पतंजलि वेट गो टैबलेट के फायदे व नुकसान | Patanjali Weight Go Tablet in Hindi

पतंजलि वेट गो टैबलेट के फायदे (Divya Weight Go tablet Benefits,review) दिव्य वेट गो टैबलेट के उपयोग, नुकसान (Side Effects, Uses of Patanjali Weight Go Tablet in Hindi)

divya-patanjali-weight-go-tablet-in-hindi-benefits-uses-side-effects

इस समय में मोटापा बढ़ना एक बहुत ही आम समस्या बन गई है हमारे गलत खानपान के कारण वजन पढ़ना बहुत ही आसान हो गया है।

बहुत से लोग अपने मोटापे पर अधिक ध्यान नहीं देते हैं उन्हें तब इसके दुष्प्रभाव दिखाई देते हैं जब वजन बढ़ जाने की वजह से कई बीमारियां लग जाती है।

अच्छी सेहत के लिए टेलीग्राम जॉइन करे

डॉक्टरों के अनुसार मोटापा बढ़ने के कारण बहुत लोगों को मधुमेह रोग होता है। हाई बीपी समस्या होती है तथा कई अन्य बीमारियां हो जाती है तो आप समझ ही सकते हैं कि मोटापे को कम करना कितना अधिक जरूरी है।

लेकिन एक बार वजन बढ़ जाए तो उसे कम करना बिल्कुल भी आसान नहीं बहुत एक्सरसाइज करनी पड़ती है तब जाकर कहीं थोड़ा बहुत वजन कम होता है। इसलिए हम आपके लिए पतंजलि की वेट गो को टैबलेट के बारे में जानकारी लाए हैं जो मोटापे या वजन को कम करने में बहुत अधिक लाभदायक है।

आइये जानते है दिव्य पतंजलि वेट गो टैबलेट के फायदे और नुकसान के बारें में –

पतंजलि वेट गो टैबलेट क्या है (Patanjali Weight Go Tablet in Hindi)

वेट गो टेबलेट पतंजलि कंपनी की दिव्य फार्मेसी द्वारा बनाई गई एक आयुर्वेदिक दवाई है। इस दवाई को बनाने के पीछे कंपनी का उद्देश्य मोटापे से जूझ रहे व्यक्तियों के मोटापे को कम करना है।

दुनिया भर में बहुत से लोग मोटापे की समस्या से पीड़ित हैं वह मोटापा कम करना चाहते हैं। लेकिन प्रयास करने के बावजूद ऐसा नहीं हो पाता ऐसे व्यक्तियों के लिए दिव्य वेट गो टेबलेट बहुत ही प्रभावी साबित हो सकती है।

पतंजलि वेट को टेबलेट को बनाने में कई सारी आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का उपयोग किया गया है जो शरीर मैं मौजूद फालतू के फैट को कम करने का कार्य करती है।

पतंजलि वेट गो के घटक (Weight Go Tablet Ingredients)

दिव्य वेट गो को बनाने में कोई आयुर्वेदिक जड़ी बूटी उपयोग में लाई गई हैं। जिनमें से कुछ निम्नलिखित है –

  • अश्वगंधा
  • कटुटुम्बी
  • अमला
  • गोखरू
  • बहेड़ा
  • गिलोय
  • हरड़
  • द्राक्ष
  • कोकम

👉 यह भी पढ़े > गर्मियों के च्यवनप्राश पतंजलि अमृत रसायन के फायदे

मोटापा क्यों होता है?

हमने से बहुत से लोगों का वजन अचानक से ही बढ़ने लगता है हम सोचते हैं कि हमने तो वजन बढ़ाने वाली कोई दवाई ही नहीं खाई फिर इतना मोटापा क्यों हो रहा है। मोटापा बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं जैसे –

  • अधिक मात्रा में भोजन करना।
  • एक्सरसाइज ना करना।
  • फास्ट फूड तथा जंक फूड का अधिक उपयोग।
  • एक ही जगह पर बैठे रहना जिस कारण भोजन से मिली एनर्जी मोटापे का रूप ले लेती है।
  • खाने में अधिक चीनी या मीठे का उपयोग करना।
  • कोल्ड ड्रिंक्स आदि का अधिक सेवन करना।
  • शराब अधिक पीने से भी मोटापे की समस्या हो सकती है।
  • कुछ व्यक्तियों के मां-बाप का वजन अधिक होता है इसलिए उनका भी वजन ज्यादा हो सकता है।
  • किसी दवाई के साइड इफेक्ट्स के कारण भी शरीर पर मोटापा आ सकता है।

मोटापे के दुष्प्रभाव

चिकित्सकों द्वारा शरीर के मोटापे को कम करने की सलाह दी जाती है क्योंकि इसके कई दुष्प्रभाव हो सकते हैं जैसे –

  • मोटापा हाई ब्लड प्रेशर यह हाइपरटेंशन का एक कारण बन सकता है।
  • मोटापे की वजह से हाई कोलेस्ट्रॉल तथा लो कोलेस्ट्रॉल की शिकायत हो सकती है।
  • कई बार मधुमेह रोग होने का कारण भी मोटापा ही होता है।
  • टाइप टू डायबिटीज मोटापा बढ़ने के कारण हो सकती है।
  • कई प्रकार कि दिल की बीमारी भी मोटापे के कारण होती है।
  • अधिक वजन होने के कारण घुटनों में दर्द की समस्या भी देखी जाती है।

मोटापा कैसे कम करें?

वैसे तो हम इस पोस्ट में दिव्य पतंजलि वेट गो टेबलेट के बारे में बात कर रहे हैं जो मोटापा घटाने का काम करती है। लेकिन इसके अलावा आपको कुछ बातों का भी ध्यान रखना चाहिए जिससे वजन जल्दी घटेगा।

  • चीनी का उपयोग बंद कर देना चाहिए।
  • प्रतिदिन सुबह और शाम व्यायाम व योग करना शुरू कर दें।
  • मोटापा कम करने के लिए रेड मीट का सेवन बंद कर देना चाहिए।
  • यदि आप वजन घटाना चाहते हैं तो आलू तथा प्रोसैस्ड मीट का सेवन ना करें।
  • एक जगह पर बहुत समय तक बैठे ना रहे।
  • एक ही बार में बहुत अधिक भोजन ना खाएं थोड़ा-थोड़ा भोजन कई बार में खाएं।
  • अधिक से अधिक पानी पिए।
  • रात में भारी भोजन करने से बच्चे जितना हो सके कम खाना खाए।

👉 यह भी पढ़े> अनेक मर्जो की एक ही दवाई सिस्टोग्रिट डायमंड

पतंजलि वेट गो के फायदे (Patanjali Weight Go Benefits in Hindi)

वेट गो टैबलेट का निर्माण उन व्यक्तियों के लिए किया गया है जो अधिक मोटापे से ग्रसित है वजन बढ़ने की समस्या बहुत ही गंभीर है। इसलिए अश्वगंधा लौकी आमला गोखरू गिलोय हरड़ जैसी चीजों के उपयोग से वेट गो को बनाया गया है।

जब कोई भी व्यक्ति वेट गो लेना शुरु करता है तो यह उसके शरीर से एक्स्ट्रा फैट को कम करने का कार्य करता है लेकिन साथ में जरूरी है कि व्यक्ति थोड़ा-बहुत व्यायाम भी करें।

वेट गो टेबलेट में को कम जैसी ऑडी उपलब्ध है जो वजन को कम करने में बहुत कारगर मानी जाती है। साथ में लौकी एवं आमला का उपयोग किया गया है जो शरीर के मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने का कार्य करते हैं।

इस दवाई में गिलोय के उपयोग के कारण अधिक जमा फैट को शरीर से बाहर निकालने में मदद मिलती है यह सभी औषधियाँ मिलकर व्यक्ति को सुरक्षित रूप से वजन कम कराने में सहायता करते हैं।

पतंजलि वेट गो टैबलेट के उपयोग (Patanjali Weight Go Tablet Uses in Hindi)

दिव्य वेट गो टैबलेट एक बहुत ही प्रभावी वह लाभदायक दवाई है इसके उपयोग से सैकड़ों व्यक्तियों को फायदा पहुंच रहा है।

पतंजलि वेट गो का उपयोग शरीर ने मौजूद एक्स्ट्रा फैट को कम कर व्यक्ति के वजन को कम करना है। यह दवाई ना केवल वजन को कम करती है बल्कि वजन बढ़ने से भी रोकती है।

पतंजलि वेट गो टैबलेट के नुकसान (Weight Go Side Effects)

दिव्य वेट गो टेबलेट को बनाने में आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां जैसे अश्वगंधा, आमला, गोखरू, बहेड़ा, गिलोय, हरड़ आदि का उपयोग किया गया है जिस कारण इससे नुकसान होने की संभावना कम ही है।

हमारे द्वारा धोनी गई जानकारी में हमें दिव्य बेटवा के साइड इफेक्ट्स या नुकसान के बारे में कोई भी जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। यदि आप इसके नुकसान के बारे में जानना चाहते हैं तो किसी चिकित्सक से जरूर संपर्क करें।

फिर भी आप कुछ बातों का ध्यान रख सकते हैं –

  • बच्चों को वेट गो टेबलेट का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाएं बिना चिकित्सक के परामर्श के पतंजलि वेट गो का सेवन नहीं कर सकती।
  • यदि आपको वेट गो टेबलेट में मौजूद किसी तत्व से एलर्जी है तो इसका सेवन करने से बचें।
  • इसका उतना ही सेवन करना चाहिए जितनी खुराक डॉक्टर द्वारा बताई गई है या इसके पैकेट पर लिखी है।

👉 यह भी पढ़े> मूसली पाक के बारें में यह जरूर जाने

पतंजलि वेट गो टैबलेट सेवन विधि (Divya Weight Go Dosage)

दिव्य वेट गो टेबलेट के सेवन के तरीके की बात करें तो आप इसकी 2 टैबलेट सुबह भोजन के आधे घंटे बाद हल्के गर्म पानी से तथा 2 टैबलेट शाम के भोजन के आधे घंटे बाद हल्के गर्म पानी से ले सकते हैं।

कितनी टैबलेट सेवन करनी है?सुबह-शाम एक बारे में 1 या 2 टैबलेट
कैसे सेवन करनी है?गुनगुने पानी से
कब सेवन करनी है?सुबह एवं शाम भोजन के आधा घंटे बाद

पतंजलि वेट गो कहां से खरीदें (Buy Weight Go Tablet)

दिव्य वेट गो टेबलेट अधिकतर पतंजलि स्टोर्स पर उपलब्ध है। यदि आपको अपने नजदीकी स्टोर्स पर यह दवाई नहीं मिलती तो आप ऑनलाइन आर्डर करके पतंजलि के ऑनलाइन स्टोर या फिर ऐमेज़ॉन या फ्लिपकार्ट जैसी वेबसाइट से इसे मंगा सकते हैं।

पतंजलि वेट गो की कीमत (Patanjali Weight Go Price)

दिव्य वेट गो टैबलेट के प्राइस की बात करें तो इसका 39 ग्राम का पैकेट लगभग ₹300 का आता है जिसमें 60 टेबलेट होती है।

₹300 = 60 टैबलेट

FAQ (प्रश्न-उत्तर)

प्रश्न – क्या वेट गो मोटापा कम करने में कारगर है?

उत्तर – जी हां, पेट को मोटापा कम करने में बहुत फायदेमंद है इसके बारे में अधिक पोस्ट में विस्तार से बताया है।

प्रश्न – वेट गो टैबलेट कौन ले सकता है?

उत्तर – जिन भी व्यक्तियों का वजन बहुत अधिक है वह अपना मोटापा कम करने के लिए वेट गो टैबलेट का सेवन कर सकते हैं।

प्रश्न – वेट गो टैबलेट दिन में कितनी बार ली जा सकती है?

उत्तर – वेट को टैबलेट दिन में दो बार सुबह व शाम में खाने के बाद ले सकते हैं।

समीक्षा व सारांश

आज इस लेख में हमने मोटापा घटाने की आयुर्वेदिक दवाई दिव्य पतंजलि वेट गो के फायदे (Benefits of Divya Patanjali Weight Go Tablet in Hindi) के बारे में जाना। साथ ही में हमने वेट गो टैबलेट के नुकसान, वेट गो टैबलेट के उपयोग (Weight Go Tablet Uses in Hindi), कीमत तथा सेवन विधि के बारे में भी जाना।

हम आशा करते हैं कि दिव्य वेट गो टेबलेट के सेवन से आपका बढ़ा हुआ वजन कम होगा तथा आपको इससे लाभ प्राप्त होगा। इस पोस्ट के बारे में यदि आप कोई प्रश्न अपने मन में रखते हैं तो हमसे कमेंट बॉक्स में पूछना ना भूलें।

Disclaimer: यहाँ लेख में बताये गए तरीके, तथा विधि की हेल्थीह्यूमन पुष्ठी नहीं करता है। ऊपर बताये गए तरीके केवल पाठको के ज्ञानवर्धन के लिए है. इन्हें उपयोग में लाने से पहले चिकित्सक का परामर्श अवश्य ले.

ये भी पढ़े 👇

प्रातिक्रिया दे

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.