नागफनी के ये 9 फायदे चकित कर देंगे आपको | Nagfani Ke Fayde

नागफनी क्या है (Nagfani in Hindi) नागफनी के फायदे, नागफनी के नुकसान, उपयोग, नागफनी का पौधा कहां लगाना चाहिए (Nagfani Ke Fayde, Nuksan, Cactus in Hindi)

cactus-nagfani-ke-fayde-benefits-in-hindi
नागफनी के फायदे – Benefits of Cactus in Hindi

आयुर्वेद की एक बात जो इसे सबसे अलग बनाती है वो है यह मानना कि हर पौधा एक औषधि है। आयुर्वेदिक पद्धति के अनुसार जो कुछ भी इस धरती पर उगा है उसकी कोई न कोई बजह है। आपने एक ऐसे पौधे को जरुरु देखा जिसके बारे में आपने सोचा होगा यह क्या रोगों को ठीक करने के काम आयेगा। हम बात कर रहे है नागफनी की, जी हाँ वही आपके पास उगने वाला कांटेदार पौधा। आइये जानते है नागफनी क्या है तथ नागफनी के फायदे क्या है?

Table of Contents

अच्छी सेहत के लिए टेलीग्राम जॉइन करे

नागफनी क्या है? (Nagfani in Hindi)

नागफनी एक प्रकार का झाड़ी नुमा पौधा होता है। यह ज्यादातर बंजर और सूखे स्थानों पर उगता है।

इस पौधे की पत्तियां मोटी, गुदेदार और कटीली होती है। इस प्रकार के पौधे को पानी की जरूरत कम ही पड़ती है और यह कई साल तक हरा भरा रहता है और इसके काटे बहुत ही नुकीले और मजबूत होते हैं।

नागफनी के फलों की बात करें तो इसके फल आकार में गोल होते हैं और उसके फल पक जाने पर लाल रंग के दिखाई देते हैं।

नागफनी के पौधे में फूल और फल आने का समय मई से दिसंबर तक होता है। यह पौधा घर के बाहर गमलों में लगाने से घर की सुंदरता को बढ़ाता है और इसके अलावा इसका उपयोग औषधि के रूप में भी किया जाता है। नागफनी का वनस्पतिक नाम ओपून्शिया इलेटीओर है। और इंग्लिश में इसे प्रिक्ली पियर व स्लीपर थार्न कहते हैं।

पौधा व फल नागफनी (व नागफनी का फल )
अंग्रेजी नाम Prickly Pear (Cactus)
वैज्ञानिक नाम ओपंटिया (Opuntia)
परिवार कैक्टस (Cactus)
बनावट व रंग इसका फल गहरा लाल रंग नाशपाती के आकार का
किस देश में अधिक उगाया जाता है?अमेरिका, मेक्सिको, इटली, स्पेन, दक्षिण अफ्रीका
भारत में उगाने वाले प्रदेशराजस्थान व गुजरात

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > खसखस में छुपे है ये चमत्कारिक फायदे

नागफनी में पाए जाने वाले पोषक तत्व (Nutrients)

पोषक तत्व हमारे शरीर की ऊर्जा को बनाए रखने के लिए बहुत ही ज्यादा आवश्यक पदार्थ होते हैं, यह शरीर को शक्तिशाली बनाते हैं। पोषक तत्वों के द्वारा शरीर में मौजूद उत्तको का निर्माण और उनकी मरम्मत होती है। पोषक तत्वों की मदद से शरीर को ऊर्जा प्राप्त होती है जिस कारण हम कई प्रकार के कार्य कर पाते हैं।

नागफनी में भी कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी होते हैं। आइए आगे उन पोषक तत्वों के बारे में बताते हैं –

तालिका : नागफनी के फल के 100 ग्राम में लगभग 16 कैलोरी होती है तथा अन्य पौषक तत्व होते है जिनके बारे में नीचे बताया गया है.

पौषक तत्व मात्रा (ग्राम में)
कार्बोहाइड्रेट3.3
प्रोटीन 1.2
कुल वसा 1
फाइबर आहार 2.3
कोलेस्ट्रॉल0
सोडियम .268

नागफनी में कुछ विटामिन पाए जाते हैं जैसे- विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन के, विटामिन बी 6, नियासिन, राइबोफ्लेविन

इनके अलावा इसमें कुछ मिनरल्स जैसे- मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम, जिंक, कॉपर, आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं।

इनके अतिरिक्त नागफनी में फैटी एसिड भी पाया जाता है।

नागफनी के उपयोग (Uses of Cactus in Hindi)

जैसा कि हमने बताया नागफनी एक झाड़ी के जैसा कांटेदार पौधा होता है। इसके हमारे जीवन में काफी उपयोग हैं और यह औषधि के रूप में भी उपयोग किया जाता है। आइए कुछ बिंदु के माध्यम से जानते है नागफनी किस काम में आती है –

  • नागफनी के पौधे का उपयोग आप घर की बाहरी सजावट के लिए कर सकते हैं।
  • नागफनी के पत्ते को आप छीलकर इसके अंदर के भाग का उपयोग सलाद यह सब्जी के रूप में कर सकते हैं।
  • नागफनी के गुदे का उपयोग त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने में किया जा सकता है।
  • इसका सूप बनाकर भी पिया जा सकता है।
  • नागफनी के कांटे का उपयोग कानों में छेद करने के लिए भी किया जा सकता है क्योंकि इसमें एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं जिससे कान पकता नहीं है।
  • नागफनी का सेवन हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए भी किया जा सकता है क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है।
  • इसके सेवन से अतिरिक्त वसा को भी कम किया जा सकता है जिससे मोटापे की समस्या नहीं होती है।

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > लड़कीयाँ ऐसे खाए केला तभी मिलेंगे असली लाभ

नागफनी का पौधा घर में लगाना चाहिए या नहीं

जैसा कि सभी को पता होता है कि नागफनी का पौधा झाड़ियों की प्रजाति से मिलता जुलता है क्योंकि यह एक कांटेदार पौधा होता है।

हमारी हिंदू सभ्यता के अनुसार किसी भी कांटेदार वस्तु या पौधे को घर में रखने या लगाने से घर में नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होती है। इसीलिए माना जाता है कि नागफनी के पौधे को घर में लगाने से नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होती है.

जिससे घर में लड़ाई झगड़े का माहौल रहता है इसीलिए इस पौधे को या किसी भी कांटेदार पौधे को घर में या घर के आसपास नहीं लगाना चाहिए।

यदि आप किसी भी कांटेदार पौधे को या फिर नागफनी को घर में रखते हैं तो घर के सदस्यों के बीच मनमुटाव जैसी समस्याएं होती रहेंगी।

नागफनी का पौधा कहां पाया जाता है?

नागफनी एक कटीला पौधा होता है और यह ज्यादातर शुष्क स्थानों पर पाया जाता है। इस पौधे को मरुस्थलीय पौधा भी कहा जाता है क्योंकि यह पौधा पानी के बिना उगता है। इस पौधे को सबसे पहले मेक्सिको में उगाया गया था।

भारत में यह सूखे स्थानों एवं बगीचों में पाया जाता है। लोग इस पौधे का इस्तेमाल खेतों के चारों ओर बाड़ बनाने के रूप में भी करते हैं क्योंकि यह कांटेदार होता है जिससे जंगली जानवर खेतों में नहीं घुसते और फसल नष्ट नहीं होती।

और इसके अतिरिक्त कुछ लोग अपने घरों के बाहर घर की सजावट के लिए भी इसको लगाते हैं क्योंकि इसकी ज्यादा देखभाल नहीं करनी पड़ती और बार-बार पानी भी नहीं देना पड़ता।

नागफनी के फायदे (Nagfani Ke Fayde)

नागफनी एक ऐसा पौधा है जिसको आप घर की सजावट के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं और साथ ही साथ इसका इस्तेमाल औषधि के रूप में भी किया जा सकता है क्योंकि इसमें कुछ खास तत्व पाए जाते हैं जोकि कुछ बीमारियों में काफी फायदेमंद होते हैं इसलिए आगे इसके कुछ फायदों के बारे में बताते हैं –

1. नागफनी के फायदे वजन घटाने में

नागफनी वजन घटाने में काफी हद तक फायदेमंद माना जाता है क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर के कारण शरीर में उपस्थित अधिक वसा का अवशोषण कम हो जाता है जिससे काफी हद तक वजन घटाने में मदद मिलती है।

इसीलिए हम कह सकते हैं कि आप वजन घटाने के लिए नागफनी जैसे पौधे को आहार के रूप में अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं।

नागफनी को सेवन करने के लिए इसके अंदर के भाग को निकाला जाता है और उस भाग को सलाद के रूप में खाया जा सकता है।

2. कैंसर में नागफनी के फायदे

नागफनी एक ऐसा पौधा होता है जिसमें काफी सारे ऐसे विटामिंस और मिनरल्स होते हैं जो विभिन्न प्रकार की बीमारियों में लाभदायक होते हैं।

इसीलिए कैंसर से बचाव के लिए नागफनी को इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि इसमें एंटी कैंसर गुण पाए जाते हैं जो कैंसर की सेल्स को बढ़ने से रोकता है और उनको पूरी तरह से खत्म करने में भी मदद कर सकता है।

और इसमें मौजूद विटामिन सी इम्यूनिटी पावर को मजबूत बनाए रखने में मदद करता है क्योंकि कैंसर जैसी बीमारी में सबसे पहले व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है और कई तरह की बीमारियां व्यक्ति को जकड़ लेती हैं इसीलिए कैंसर में नागफनी का सेवन लाभदायक माना जाता है।

3. नागफनी के फायदे डायबिटीज के नियंत्रण के लिए

नागफनी डायबिटीज या मधुमेह जैसी समस्या में काफी गुणकारी माना जा सकता है । डायबिटीज का मुख्य कारण क्या होता है शुगर का बढ़ना।

और शुगर कार्बोहाइड्रेट की अधिक मात्रा के बढ़ने के कारण होता है। तो इसीलिए नागफनी का पौधा खाद्य पदार्थों से मिलने वाले कार्बोहाइड्रेट को बचाकर खून में शुगर की मात्रा को बढ़ने से रोक सकता है और इसके कारण कार्बोहाइड्रेट की अपापचय प्रक्रिया तेज हो सकती है। इसी कारण नागफनी को डायबिटीज को कम करने के लिए असरदार माना जा सकता है।

4. अनिद्रा में नागफनी के फायदे

अनिद्रा जैसी समस्या आमतौर पर किसी में भी देखी जा सकती थी, क्योंकि आजकल तनाव इतना बढ़ गया है कि एक साधारण व्यक्ति सही तरीके से नींद भी नहीं ले पाता। ऐसी समस्या में नागफनी का पौधा काफी लाभकारी माना जा सकता है.

क्योंकि इस पौधे में कुछ ऐसे गुण पाए जाते हैं जो तनाव को काफी हद तक कम करते हैं और तंत्रिका तंत्र को संतुलित करने का काम कर सकते हैं, यदि तंत्रिका तंत्र संतुलित रहता है तो अनिद्रा की समस्या में काफी हद तक राहत मिल सकती है इसीलिए नागफनी को अनिंद्रा में लाभकारी माना जा सकता है।

5. नागफनी के फायदे हदय स्वास्थ्य के लिए

हृदय रोग का सबसे बड़ा कारण शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाने के कारण को माना जाता है यदि कोलेस्ट्रॉल की मात्रा नियंत्रण में रहती है तो यह समस्या कम ही देखने को मिलती है।

यदि फिर भी कुछ अन्य कारणों से ऐसी समस्या होती है तो नागफनी में सेलेनियम नामक तत्व पाया जाता है जो हृदय संबंधी समस्याओं में काफी हद तक फायदा कर सकता है। और नागफनी में मौजूद पोटेशियम की अच्छी मात्रा शरीर में रक्तचाप को नियंत्रित करने में भी मदद कर सकती है और नागफनी से कोलेस्ट्रॉल लेवल भी नियंत्रण में रहता है जिस कारण हमारा हृदय स्वस्थ रह सकता है।

6. हड्डियों की मजबूती में कैक्टस के फायदे

नागफनी हड्डियों की मजबूती के लिए भी काफी फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि इसमें कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। कैल्शियम एक ऐसा तत्व होता है जिसके कारण हमारे शरीर की हड्डियों को और मांसपेशियों को मजबूती मिलती है।

कैल्शियम के अभाव में हमारी हड्डियां कमजोर होकर टूटकर गिरने लगती हैं, इसका परिणाम शरीर बेकार हो जाता है। इसीलिए कैल्शियम को हड्डी स्वास्थ्य के लिए काफी आवश्यक माना जाता है और यही कारण है कि हड्डियों की मजबूती को बनाए रखने के लिए आप नागफनी का सेवन कर सकते हैं ।

👉 लेख पढ़े > ड्रैगन फ्रूट के चमत्कारिक फायदे व नुकसान नहीं जानते आप

7. नागफनी के फायदे पाचन के लिए

यदि व्यक्ति को अपने स्वास्थ्य को ठीक बनाए रखना है तो उसके भोजन का पाचन ठीक तरह से होना बहुत ही ज्यादा आवश्यक होता है यदि व्यक्ति को अपच की समस्या रहती है तो उसका स्वास्थ्य ठीक नहीं होता और इसका असर छोटी और बड़ी दोनों आतो पर पड़ता है।

जिससे अधिक समस्या पैदा हो सकती है इसीलिए यदि आपको अपच की समस्या है तो आप नागफनी के पौधे का सेवन कर सकते हैं क्योंकि इसमें सेलेनियम नामक तत्व अच्छी मात्रा में पाया जाता है और यह अपच की समस्या को काफी हद तक ठीक कर सकता है। इसी कारण से नागफनी को पाचन के लिए काफी अच्छा माना जा सकता है।

8. नागफनी के फायदे पीलिया के लिए

पीलिया गंभीर समस्या होती है। यदि इस समस्या में शुरुआत में ही ध्यान कर लिया जाए तो जल्दी आराम मिल जाता है लेकिन समस्या बढ़ने पर इस बीमारी को कम करने में दिक्कत आती है और कभी-कभी तो यह बीमारी इतनी अधिक बढ़ जाती है कि व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है, इसीलिए आप इसके उपचार के लिए अपने आहार में नागफनी का सेवन कर सकते हैं।

क्योंकि जैसा कि हमने पहले बताया इसमें सेलेनियम पाया जाता है, जो बैक्टीरिया इंफेक्शन को कम करने में मदद कर सकता है और खून बनने की प्रक्रिया को भी तेज करता है क्योंकि पीलिया में व्यक्ति के शरीर में खून की मात्रा ना के बराबर हो जाती है। इसीलिए नागफनी के पौधे को पीलिया से बचाव के लिए काफी हद तक लाभकारी माना जा सकता है।

9. नागफनी के फायदे त्वचा के लिए

हमारी त्वचा के शुष्क होने का सबसे बड़ा कारण सूर्य से निकलने वाली अल्ट्रावायलेट किरणों को माना जाता है। यह किरणें चेहरे की चमक को कम कर देती है।

इसीलिए इन किरणों के प्रभाव को कम करने के लिए आप नागफनी का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि नागफनी में त्वचा संबंधी कई समस्याओं को दूर करने के गुण पाए जाते हैं। और इसके अतिरिक्त नागफनी में विटामिन ए भी पाया जाता है जो त्वचा के लिए काफी लाभकारी माना जाता है।

त्वचा की समस्या को दूर करने के लिए आप नागफनी के गुर्दे का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके गूदे को आप अपनी त्वचा पर पेस्ट बनाकर लगा सकते हैं जिससे काफी फायदा मिलता है।

नागफनी के नुकसान (Side Effects of Prickly Pear Cactus in Hindi)

जैसा कि हमने बताया नागफनी का पौधा स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी होता है क्योंकि इसमें काफी सारे औषधि गुण पाए जाते हैं और यह कई तरह की बीमारियों में भी असरदार होता है लेकिन इसके फायदों के साथ-साथ इसके कुछ नुकसान भी देखे गए हैं। आइए उन नुकसान के बारे में हम आपको कुछ बिंदुओं के माध्यम से बताते हैं –

  • नागफनी का सेवन शुगर की मरीजों के लिए नुकसानदायक होता है क्योंकि वह दवाइयां ले रहे होते हैं।
  • नागफनी का सेवन अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे मोटापे की समस्या हो सकती है।
  • नागफनी का अधिक मात्रा में सेवन किडनी और हृदय जैसी समस्या को पैदा कर सकता है क्योंकि इसमें अधिक मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है।
  • इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से कब्ज और गैस जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं।
  • नागफनी के अधिक सेवन से शरीर में एलर्जी की समस्या भी हो सकती हैं।

FAQ (प्रश्न-उत्तर)

नागफनी का पौधा कहां लगाना चाहिए

नागफनी एक कांटेदार पौधा है, ऐसे पौधों को इनकी नकारात्मक उर्जा की बजह से घर में लगाने से मन किया जात है। आप घर से दूर किसी बगीचे में इसके लगा सकते है। नागफनी के बारे में अधिक जानने के लिए ऊपर पोस्ट पढ़े।

नागफनी का पौधा कैसा होता है

नागफनी का पौधा 2 से 3 मीटर तक ऊँचा, तथा इसमें कई शाखाएं होती है जिनमे कांटे निकले होते है।

नागफनी का फल कैसा होता है?

नागफनी का पौधा गहरे हरे रंग का गोलाकार एवं नाशपाती के आकार का होता है।

ध्यान देने योग्य

इसमें कोई संदेह नहीं की नागफनी के कई फायदे है। लेकिन इसका किसी भी तरह से सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक से सम्पर्क जरुरु करे। बिना डॉक्टर की सलाह के नागफनी का उपयोग बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

अंत में –

आज हमने नागफनी (Nagfani in Hindi) के बारे में चर्चा की। हमने नागफनी के फायदे (Nagfani Ke Fayde), नागफनी के नुकसान (Nagfani Ke Nuksan), नागफनी के उपयोग (Nagfani Ke Upyog), नागफनी का पौधा घर में लगाना चाहिए या नहीं आदि विषयों पर भी चर्चा की। आशा करते है आपको यह लेख पसंद आया होगा, अपने सुझाव कमेंट में बताना ना भूले।

👉 सबसे अधिक पसंद की जाने वाली पोस्ट

प्रातिक्रिया दे

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.